Let me be ME

कितने लोगों से सुना यह मैंने
हमारा बचपन कहीं खो गया है
सुबह ब्लैकबेरी का सूट पहन कर
जूतों को चमका कर
बड़ा सा स्मार्ट फ़ोन ले कर
जब में अपनी मेहेंगी सी गाडी on करता हूँ
तब में अपनी हैसियत पे फुले नहिं समाता
कितनी पढ़ाई और कितनी मेहनत के बाद में पहुंचा हूँ  इस मुकाम पे
frequent flyer , 5 स्टार hotel अब मेरे हैं AMEXकार्ड पे
पर जब में सुबह से थक कर लेटता हूँ उस उम्दा होटल के कमरे में
बार बार यही सोचता हूँ की क्या मैंने पा लिया है सब कुछ?
शायद कहीं कुछ् रह गया है
जो में ढूंढता हूँ weekend पे
क्यों में हिम्मत नहीं कर पता अपने ख्वाबों को जीने की
बस मन टीस भरता है एक ख़ुशी पाने की
एक बार वह बचपन फिर आ जाए
जहाँ सिर्फ खेल ,खाना और माँ का प्यार समाये
लेकिन फिर मैंने देखी एक मासूम हंसी
वही खिलखिलाहत और जीवन से भरी
मैंने सोचा,अपने लिए तो सब जीते हैं
खाते ,पीते,खेलते और कमाते हैं
बस एक बार एक चेहरे पे हंसी लाके तो देखो
एक बच्चे को प्यार करके तो देखो
बचपन फिर आ जाएगा
इतनी मासूमियत अपने अंदर ले के तो देखो
कौन कहता है खो गया बचपन
बस एक बार पंख लगा तो देखो

image

Posted from WordPress for Android

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: